अजवाइन के फायदे-

      अजवाइन के फायदे इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स के कारण आते हैं।
        

अजवाइन को हमने हमेशा ही घरों में मसाले के रूप में उपयोग करते हुए देखा है। लेकिन अजवाइन एक औषधीय जड़ी बूटी है इसलिए आपको अजवाइन के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान की पूरी जानकारी होनी चाहिए। भारत में अजवाइन को विशेष मसाले के रूप में व्?यापक रूप से उपयोग किया जाता है। अजवाइन के फायदे विशेष रूप से पाचन या पेट संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए जाने जाते हैं। अजवाइन का इस्?तेमाल कई प्रकार की समान्?य और गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है। तो आइये जानते है अजवाइन के फायदे के बारे में। इसके अलावा यह कोलेस्टॉल लेवल को भी सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। भारत में अजवाइन बहुत पॉपुलर है और साथ ही भारत में ही इसका जन्म हुआ है। और आज अजवाइन ने हर घर में अपना घर बना लिया है और अधिकतर सभी जिश में इसको इस्तेमाल किया जाता है। इन छोटे बीजों को पूरे एशिया और मध्य पूर्व में कई तरह की डिश बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
अजवाइन के फायदे डायबिटीज में – रोज सुबह उठने पर अजवाइन का पानी पीने से डायबिटीज की समस्या दूर होती है। सुबह उठकर आप अजवाइन का पानी का सेवन करेंगे तो ऐसा करने से डायबिटीज की समस्या कुछ ही समय बाद दूर हो जाएगी।
स्वस्थ डायजेशन – अजवाइन के फायदे डायजेशन से जुड़ी परेशानी को लेकर बहुत पॉपुलर हैं। अजवाइन खाने के फायदे में से एक है कि गैस्ट्रिक जूस निकालता है जिससे सेहतमंद डायजेशन होता है। इसके अलावा अजवाइन में एंटी- इंफ्लामेट्री की खूबी होती है जिससे पेट में होने वाली जलन से आराम मिलता है। इसके साथ ही अजवाइन का सेवन करने से सूजन नहीं होती है और पेट में दर्द भी नहीं होता है।
सामान्य ब्लड प्रेशर – अजवाइन में थाइमोल नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो कैल्सियम को सेल के अंदर आने से रोकने में मदद करता है। कैल्शियम को हड्डियों को मजबूत करने के लिए जाना जाता है। लेकिन कई बार यह ब्लड वेसल्स के सिकुडऩे का कारण बन सकता है जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। इसके साथ ही अजवाइन के फायदे यह है कि यह कैल्शियम को सेल के द्वारा लेने नहीं देता है जिससे खून का बहाव सही बना रहता है और हाइपर टेंशन होने के आसार कम हो जाते हैं।
अजवाइन के लाभ स्तनपान के लिए – जो महिलाएं स्तनपान करा रही हैं उनके लिए अजवाइन का उपयोग फायदेमंद होता है। अजवाइन का उपयोग स्तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध उत्पादन की क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसके लिए उन्हें अजवाइन और सौंफ के बीज को पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए।
लो कोलेस्टॉल लेवल- अजवाइन, फाइबर और सैचुरेटेड फैट से भरपूर है, सही मात्रा में अजवाइन का सेवन करने से लिवल में कोलेस्टॉल का लेवल सामान्य बना रहता है। इस विषय में किए गए अध्यय अभी भी जारी हैं लेकिनकुछ बातों से यह साबित होता है कि अजवाइन का सेवन करने से कोलेस्टॉल का लेवल सामान्य बना रहता है। उदाहरण के तौर पर, एक अध्ययन में चूहों की डाइट में अजवाइन को शामिल किया गया जिसमें खराब कोलेस्टॉल की मात्रा कम होती सामने आई है साथ ही अच्छे कोलेस्टॉल की मात्रा बढ़ती हुई नजऱ आई है।
पथरी होने से बचाव – अजवाइन के फायदे इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स के कारण आते हैं। जैसे कि पहले बी बताया गया है कि अजवाइन खाने से हमारा शरीर कैल्शियम को कम अब्जॉर्ब करता है। सही मात्रा में अजवाइन का सेवन करने से शरीर में कैल्शियम जमा नहीं होता है और ऐसा होने से किडनी पथरी बनने के आसार कम हो जाते हैं।
सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन के फायदे – अजवाइन में तेल होता हैं जो नाक में जमे बैक्टीरिया को ख़त्म कर देता है। बैक्टीरिया के ख़त्म हो जाने पर नाक खुल जाती हैं। सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन का इस्तेमाल करने के लिए किसी बर्तन में पानी और तीन चम्मच अजवाइन डालकर उबालें। जब भाप निकलने लगे तब तौलिए से सिर ढककर मुंह को बर्तन के पास जितनी गर्मी सहन हो, उतनी दुरी पर रखें। भाप को नाक से सांस लेते हुए खींचें और मुंह खोलकर सांस बाहर निकालें इस तरह भाप में सांस लेने से नाक खुल जायेगी। और सर्दी के कारण होने वाला सिरदर्द या साइनस का दर्द भी ठीक हो जायेगा।
प्राकृतिक संवेदनाहारी – अजवाइन के फायदे के बारे में बात करते समय ऐसा नहीं हो सकता है कि हम इसके प्राकृतिक संवेदनाहारी और एंटी- इंफ्लामेट्री के बारे में बात ना करें। अजवाइन खाने के फायदे में से यह एक सबसे अहम फायदा है। प्राकृतिक संवेदनाहारी होने के कारण अजवाइन खाने से गठिया और आमवाती दर्द में आराम मिलता है। शरीर में सूजन से आराम मिलने पर त्वचा पर लाल धब्बों, जलन, दर्द और त्वाच में खुजली से भी आराम मिलता है।
त्वचा की देखभाल – अजवाइन के फायदे सेहत के साथ- साथ त्वचा को लेकर भी कई सारे हैं। अजवाइन को त्वचा से जुड़ी परेशानी जैसे कि मुँहासे, काले धब्बे और झुर्रियाँ के लिए लाभदायक माना जाता है। इसके साथ ही यह डेढ सेल और गंदगी को दूर करने में भी मदद करता है। अजवाइन को इस्तेमाल करने का सबसे बेहतर तरीका यह है कि अजवाइन के पाउडर में लहसुन के तेल की कुछ बूंदे डाले और पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को त्वचा पर 10- 15 मिनट के लिए लगाएं और अच्छे से मालिश करें और फिर धो लें।
बालों को सफेद होने से रोकता है – अजवाइन के फायदे बालों के लिए भी हैं। अजवाइन के पेस्ट को बालों पर लगाने से बाल समय से पहले सफेद नहीं होते हैं। इसमें मौजूद पोष्टिक आहार और एंटीऑक्सीडेंट बालों की जडों को पोषण से भरपूर रखने में मदद करते हैं जिससे बालों को प्राकृतिक रंग बरकरार रहता है।