ज्ंगली प्याज है औषधीय गुणो का खजाना

सचिन सिन्हा महेन्द्र साहु जगदीश कुमार चैतेश्वर साहु
राजमोहिनी देवी कृषि महाविघालय एवं अनुसंधान केन्द्र अंबिकापुर
ज्ंगली प्याज का वानस्पतिक नाम अर्जीनिया इंडिका है कंद वाला शाकीय पौधा होता है तथा स्वाद तिखा होता है जंगली प्याज जुन से सितबर तक फलता और और फुलता है जंगली प्याज प्रकृृति से कडवा तीखा और गर्म तासीर का होता है औषधीय गुणों वाला खाघ पदार्थ है।
प्याज का औषधिय गुण

  • पेट संबंधी समस्या मेे फायदेमंद जंगली प्याज
  • जंगली प्याज का काढा बनाकर 20 मिली मा़़त्रा में पीने से पेट संबंधी सामान्य समस्याओं में लाभ मिलता है।
  • अश्मरी में जंगली प्याज का इस्तेमाल
  • जंगली प्याज के कंद का काढा बनाकर पीने से किडनी के बीमारी के बीमारी में तथा अश्मरी या किडनी स्टोन को तोडकर निकालने में बहुत मदद मिलती हेंै।
  • रक्तस्त्राव या खुन को बहना रोके जंगली प्याज
  • अगर गर्भाशय या युटेरस से ब्लीडिंग हो रहा है तो जंगली प्याज का प्रयोग बहुत लाभकारी होता हैै इसका प्रयोग गर्भाशय रक्तस्त्राव की चिकित्सा में किया जाता है ।
  • खुजली में लाभकारी जंगली प्याज
  • अगर किसी कारण एलर्जी के रूप में खुजली हो गया है तो जंगली प्याज का इस तरह से प्रयाग करने पर बहुत लाभ मिलता है जंगली प्याज के कंद को पीसकर त्वचा में लगाने से जोडो का दर्द और खुजली दोनो में आराम मिलता हैै।
  • अल्सर से दिलाये राहत जंगली प्याज
  • कई बार ऐसा होता है कि अल्सर का घाव ठीक होने का नाम ही नही लेता है जंगली प्याज घाव भरने में काम आता है
  • कृृमि रोग से दिलाये राहत जंगली प्याज राहत जंगली प्याज
  • बच्चो को सबसे ज्यादा कृमि रोग होता है। वन पलाण्डु का का काढा बनाकर 20 मिली मात्रा मेंं पीने से पेट में जो कृमि होता है वह नष्ट हो जाता है कृमिक के कारण जो पेट में दर्द होता है उससे भी राहत मिलती है।