पोल्ट्री उत्पाद सुरक्षित, कोरोना वाइरस से कोई संबंध नहीं

   

वर्तमान में चीन तथा कुछ अन्य देशों में नोवल कोरोना वाइरस से लोग प्रभावित हुए हैं। यह वाइरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है। कोरोना वाइरस के पोल्ट्री के माध्यम से फैलने संबंधी अफवाह और गलत संदेश कुछ सोशल मीडिया में प्रसारित होने की जानकारी है, जबकि इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है तथा पोल्ट्री में कोरोना वाइरस की अभी तक कोई घटना रिपोर्ट नहीं हुई है। भारत सरकार द्वारा भी स्पष्ट किया गया है कि पोल्ट्री के माध्यम से कोरोना वाइरस का प्रसारण विश्व मे कहीं पर भी नहीं हुआ है।

इस संबंध मंे कृषि विभाग द्वारा सर्वसाधारण से यह अपील की गई है कि इस प्रकार के अफवाह व प्रचारित संदेश पर विश्वास न करें। उपभोक्ता इस प्रकार के संदेश पर ध्यान न देते हुए चिकन व अंडे के उपयोग को लेकर संशय न रखे। डब्ल्यू एच ओ द्वारा की गई अनुशंसा अनुसार साफ सुथरे तथा स्वच्छ वातावरण में पके चिकन व अंडे खाने से कोई खतरा नहीं है।

    उलेखनीय है कि पोल्ट्री के माध्यम से लोगों को प्रोटीन युक्त भोजन प्राप्त होता है। बड़ी संख्या में कुपोषित बच्चों व महिलाओं को पोषण की सुनिश्चितता अंडे व चिकन से होती है। चूंकि पोल्ट्री उत्पाद का कोरोना वाइरस से कोई संबंध नहीं है, अतः उपभोक्ता निश्चिंत होकर चिकन, चिकन उत्पाद व अंडे का सेवन कर सकते हैं।

Krishi World

Read Previous

भूपेश बघेल का कृषि बजट

Read Next

जरूर खाएं बथुआ की सब्जी, जानिए इसके फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *